Subscribe Us

SEO Kya hai | SEO Kaise Karen | SEO करके बढ़ाये अपनी Website की ट्रैफिक और कमाए अच्छा पैसा!

 दोस्तों क्या आप भी जानना चाहते हैं की SEO क्या है ?(SEO Kya hai)और Blog के लिए SEO कैसे करें?(SEO Kaise Karen) तो आज का यह पोस्ट आपके लिए बहुत ही खास होने वाला है क्योंकि आज के इस पोस्ट में आपको SEO क्या है? SEO कैसे करें? इसकी पूरी जानकारी मिलेगी.

दोस्तों यदि आप Blogging करते हैं तो बिना SEO In Hindi के आपके Blog पर Traffic नहीं आता है इसका मुख्य कारण होता है की बिना SEO के आपका Blog Google में Rank ही नहीं करता है.


SEO kya hai? SEO kaise karen?


यदि आपने भी अपना Blog बनाया है और आप Blogging में नए हैं तो अभी से ही आपको SEO के बारे में जानना चाहिए. इससे आप भी Blogging में अच्छा कर पाएंगे और आपका Blog भी Google में Rank करेगा.

SEO ब्लॉग्गिंग का एक महत्वपूर्ण भाग है , क्योंकि SEO Blogging में शुरू से लेकर अंत तक जरुरी होता है. यदि आप Blogging में लंबे समय तक टिके रहना चाहते हैं तो आपको What SEO in Hindi को जानना ही होगा.

पहले जब Blogging में इतना कम्पटीशन नहीं था तब SEO उतना मायने नहीं रखता था लेकिन यदि बात आज की करें तो अभी Google में बहुत सारा Blog/Website है इस कारण यदि आप SEO सही तरीका से नहीं करते हैं तो आपका Blog Google Rank ही नहीं करेगा.

तो चलिए दोस्तों बिना किसी देरी के आज के टॉपिक SEO kya hai? SEO kaise karen? के बारे में पूरी जानकारी लेते हैं. 

    SEO क्या है ? What is SEO in Hindi?


    SEO क्या है ? What is SEO in Hindi?


    SEO का Full Form होता है - Search Engine Optimization. इसका इस्तेमाल Search Engine में अपने Site या Blog Post की अच्छी Ranking के लिए किया जाता है.

    दोस्तों SEO करना कोई बड़ी बात नहीं है लेकिन अपने कम्पिटीटर से अच्छा SEO करना मुश्किल होता है. यदि आप अपने कम्पिटीटर से अच्छा SEO करते हैं तो आपका Blog आसानी से Rank कर जायेगा.

    चाहे कोई भी Search Engine हो (Google , Yahoo , Yandex या Bing) सभी में Rank करने के लिए आपको SEO करना होता है. 

    बात यदि Google की करें तो Google दुनिया इ सबसे बड़ी Search Engine है , इस मैं आज Google में ही SEO करना सिखाऊंगा.

    Search Engine क्या है ?

    हम Search Engine Optimization इसीलिए करते है ताकि हमारी वेबसाइट Search Engine में पहले पेज पर list हो, इसलिए Search Engine क्या होता है इस के बारे में जानना भी जरूरी है. Google, Yahoo, Bing अदि सभी Search Engines है. अगर हमे कुछ सर्च करना होता है तब हम Google का इस्तमाल करते है क्यूकि google world का सबसे ज्यादा प्रयोग होने वाला सर्च इंजन है.

    हर एक सर्च इंजन का वर्क करने का अलग अलग Algorithms होता है| वह समय समय पर उसे बदलता रहता है क्यूकि सर्च इंजन अपने algorithms का प्रयोग करके हमे result Show करता है.

    ज्यादातर सर्च इंजन के SEO फैक्टर्स एक से ही होते है. SEO सभी सर्च इंजन के लिए एक से होते है लेकिन हर सर्च इंजन के सीक्रेट रैंकिंग फैक्टर्स होते है जो कि किसी को भी पता नहीं होते है और यह बदलते रहते है। SEO सीखने के लिए सबसे जरूरी है कि आप SEO की सारी दुनिया से अपडेटेड रहें. 

    SEO क्यों करते हैं ?


    अब आप जान चुके हैं की SEO क्या है ? अब हम जानेंगे की SEO हमारी Site के लिए क्यों जरुरी होता है? SEO क्यों करते हैं ? 

    SEO की जरुरी हमें इसलिए होती है क्योंकि हम Blogging कर रहे होते हैं या हम कोई Blog को रन कर रहे होते हैं. Blog का Search Engine में Rank करने के लिए SEO करना जरुरी होता है.

    अपने Blog पर Traffic लाने के बहुत से तरीके होते हैं जैसे - Search Engine , Social Media , Advertisement और  Email . इन सारे तरीकों में सबसे बेहतर तरीका है Search Engine से Traffic लाना.

    SEO का उपयोग करके हम अपने ब्लॉग को गूगल या अन्य सर्च इंजन में रैंक करते है और अपने Blog या Site पर ट्रैफिक ला सकते है. अपने ब्लॉग से पैसे कमाने के लिए सबसे जरूरी है कि आपकी site या आपके Blog पर ट्रैफिक हो.


    SEO कैसे करें? 


    यदि आप भी यह जानना चाहते हैं की SEO कैसे करें तो इसके लिए आपको यह जानना होगा की SEO के प्रकार के बारे में जानना होगा उसके बाद आप इसे सही तरीके से कर पाएंगे.

    SEO कितने प्रकार के हैं?


    वैसे देखा जाय तो SEO के अनेक प्रकार होते हैं, लेकिन उनमें से मुख्य रूप से तीन प्रकार को ज्यादा महत्व दिया जाता है वो है -

    1. ON Page SEO 
    2. OFF Page SEO
    3. Technical SEO 

    1. ON Page SEO :- ON Page SEO उन Factors को कहा जाता है जिसमें सिर्फ आपके ब्लॉग/वेबसाइट का elements जुड़े होते हैं. इसमें सिर्फ आपके Site का उपयोग होता है. मतलब ON Page SEO में सबकुछ करना सिर्फ हमारे हाथ में होता है.

    ON Page SEO के अंतर्गत कुछ चीजें आती है जैसे -

    • High Quality , Keyword - rich Content को तैयार करना.
    • Html Optimize , इसके अंतर्गत ही Tital Tag , Meta Description और Subheads आदि आते हैं.

    ON Page SEO में आपको किसी अन्य Site की जरुरी नहीं होती है , इसमें आप अपनी website की किसी specific page का या उसके content का SEO करते हैं.

    आप बाद में जरूरत आने पर On-Page SEO Blog या Blog Post को एडिट करके ठीक तरह से कर सकते है.

    इन्हें भी पढ़ें -



    2. OFF Page SEO :- OFF Page SEO का काम आपके Site के बन जाने या Post Publish होने के बाद शुरू होता है. या यूँ कहे की इसका काम Post के Google में Index होने के बाद शुरू होता है.

    इसमें आपको अपने ब्लॉग या पोस्ट पर कोई काम नहीं करना होता है। आपको इसमें बस आपके ब्लॉग या पोस्ट के Url की जरूरत होती है.

    इसके अन्दर कुछ चीजें आती है जैसे -

    • Back-link 
    • Page Rank 
    • Bounce Rate आदि .

    3. Technical SEO :-  कुछ दोस्त Technical SEO को On Page SEO समझ रहे हैं तो ऐसा नहीं है इसमें अंतर होता है.

    "वह SEO जो पुरे Site पर किया जाता है, उसे Technical SEO कहा जाता है" 

    यह Website के Technical aspects पर असर डालती है. जैसे की - Page Load , AMP , Navigable Sitemap और Mobile Screen display आदि.

    Technical SEO करना बहुत जरुरी होता है क्योंकि यह आपके page ranking को effect करती है.

    On Page SEO कैसे करें? 


    1.Title 

     एक अच्छा Title वही माना जाता है जिसमें आपके Focus Keyword हो और वह आपके CTR को improve करें. 

    2.Meta Description 

    आपको अपने ब्लॉग के हर page या Post का एक अच्छा Description  लिखना चाहिए . क्योंकि ये website को difine करने में मदद करता है.

    3.Permalink 

    आपको अपने Permalink  में अपने Focus Keyword ही डालना है, इसमें किसी तरह का नंबर या Date न डालें.

    4.Image Alt Tag 

     हमें अपने Site के image के साथ Alt Tag भी लगाना चाहिए , जिससे Search engine को समझने में आसानी हो.

    5.Internal Linking करें
    आप पोस्ट में थोड़ी थोड़ी दूरी पर अपने ब्लॉग के ही दुसरे Article को लिंक करें. आप उन्हें इस तरह से लिंक करें कि जिससे Visitor उस पर क्लिक करें. 

    जैसा कि आपका कीवर्ड है Earn Money Online तो इसमें पैसा कमाने का एक अच्छा तरीका है Freelancing तो यदि आपने एक आर्टिकल इस टॉपिक पर लिखा है तो आप इस आर्टिकल की लिंक वहीं दे दें। इससे आपका एक विजिटर आप एक से ज्यादा पेज व्यूज देकर जायेगा. 

    Google इस तरह के आर्टिकल को जल्दी रैंक करता है क्योंकि इस तरह किसी भी विजिटर के लिए आपके ब्लॉग पर कम्यूनिकेट करना आसान हो जाता है और Google यहीं चाहता है कि विजिटर को आसानी हो. 

    6. Fix Multiple H1 Tags

    अगर आपके page पर एक से अधिक H1 tags हैं तो आपको यह fix करने की जरूरत है।

    Blogger और WordPress में default रूप से title tag ही H1 tag के रूप में होता है।

    आप कभी भी post लिखते समय उसमें H1 tag न जोड़ें.

    7 . Fix Keyword Cannibalization

    जब google में किसी एक keyword पर किसी blog के दो या अधिक अलग pages rank करते हैं तो वह keyword cannibalization कहलाता है.

    बहुत से SEO expert इसे बुरा मानते हैं.

    आप कभी भी एक ही topic पर दो post न लिखें.

    अगर आपको keyword cannibalization की समस्या आ रही है तो आप उसे 301 redirect या canonical tag लगाकर fix कर सकते हैं.

    OFF Page SEO कैसे करें?

    Off Page SEOमें आपको किसी दुसरे Site से Link या Social Link बनाना होता है.

    इसमें आपको एक बात पर ध्यान देना होता है की Off Page SEO का मतलब सिर्फ Link बनाना ही नहीं होता है. इसके साथ आपको एक अच्छा कंटेंट लिखने पर भी ध्यान देना होता है जो visitor को पसंद आये.

    Link Building करना :- वैसे देखा जाये तो आज कल Link Building का जरूरी कम ही होता है . SEO में 90% On page Seo ही मेटर करता है.

    लेकिन यदि दो ब्लॉग एक जैसा ही On Page SEO करते है तो कौन रैंक करेगा. 

    इस स्थिति में Links से तय होता है कि कौन ऊपर रैंक करेगा। इसके अलावा लिंक्स आप ब्लॉग और ब्लॉग पोस्ट को इंडेक्स करने में भी मदद करता है।

    बैकलिंक्स का मतलब है कि आपके ब्लॉग या पोस्ट की लिंक अन्य साइट्स पर होना.

    जैसे कि यदि आप पोस्ट लिखते वक्त किसी अन्य ब्लॉग की लिंक देते हैं तो उस ब्लॉग को एक बैकलिंक मिलेगी.

    Backlink Kya Hai

    बैकलिंक्स दो प्रकार की होती है.

    Dofollow Backlink – यह Page के HTML Source में ऐंसी दिखती है 

     <a href=”https://www.hinditech24.com”>HindiTech24</a>

    लिंक बिल्डिंग का मतलब Dofollow Backlink बनाना ही होता है क्योंकि इससे ही आपके ब्लॉग को फायदा होता है.

    Nofollow Backlink – यह Page के HTML Source में ऐंसी दिखती है   

     <a href=”https://www.hinditech24.com” rel=”nofollow”>HindiTech24</a>

    इस तरह की लिंक्स बनाने से आपके ब्लॉग को ज्यादा फायदा नहीं होगा.   

    लिंक बिल्डिंग Off Page SEO का सबसे महत्वपूर्ण काम है. 

    बैकलिंक वह ही काम करती है मतलब आपको फायदा वही देती है जो कि अच्छी साइट पर हो और वह एक्टिव हो.

    इसके अलावा यदि कोई उस लिंक का इस्तेमाल करके आपकी साइट पर आता है तो आपको बैकलिंक का ज्यादा फ़ायदा मिलता है.


    Technical SEO कैसे करें?

    Blog को डिजाईन करते समय ही हमें कुछ चीजें ध्यान रखनी होती है.

    1. Fix Broken Link 

    यदि आपके Site पर 404 Link या कोई ऐसा Link बनता है जिसपर कोई page नहीं है तो आपको चाहिए की उसे तुरंत ढूढ़ कर Fix करें.

    आप इसके लिए broken link checker का इस्तेमाल कर सकते हैं या आप अपनी WordPress site में Broken Link Checker Plugin का इस्तेमाल कर सकते हैं.


    2. Optimize Website For Good Page Seep

    Page Load Speed SEO को बहुत Effect करती है. इसलिए इसे जितना हो सके उतना कम करेने की कोशिश करें.

    किसी भी Site का Load Time उसके थीम और होस्टिंग पर निर्भर करती है.

    यदि आपकी साईट Blogger पर है तो आपको सिर्फ एक अच्छी थीम Select करना होता है , यदि Wordpress पर है तब आपको एक अच्छी Hosting (जैसे - Hostinger , Siteground) और एक अच्छी Theme का इस्तेमाल करें.

    Blogger में आपको Hosting लेने की आवश्यकता नहीं होती है.

    SEO क्या है कैसे करे



    आप अपने site की speed को test करने के लिए pingdom या gtmetrix का इस्तेमाल करें.

    3. Optimize Robots.txt

    अगर आप अपने domain के पीछे /robots.txt (example:domainname.com/robots.txt) सर्च करेंगे तो आपको आपके domain का Robots.txt दिख जायेगा.

    इसका काम है कि आपके blog या site पर crawler की activity को कंट्रोल करना. इससे आप अपने ब्लॉग को google में index करा सकते हैं या इंडेक्स होने से रोक सकते हैं.

    इससे आप यह चुन सकते हैं कि आप अपनी website का क्या index करने चाहते हैं और क्या नहीं.

    अगर आप अपने blog के robots.txt में गड़बड़ी करते हैं तो आपका blog या pages गूगल या दूसरे search engine में index नहीं होगा.

    4. HTTPS इस्तेमाल करें

    Domain दो तरह के protocol के साथ काम करते हैं एक HTTP के साथ और दूसरा HTTPS के साथ। Google ने साफ़ कहा है कि वह HTTPS वाले domain को अच्छी रैंकिंग देगा.

    HTTP और HTTPS का Full Form

    • HTTP – Hypertext Transfer Protocol
    • Hypertext Transfer Protocol Secure

    कोई भी browser https न होने पर आपकी site को not secure warning के साथ दिखाता है.

    आप SSL certificate इनस्टॉल करके HTTPS का उपयोग कर सकते हैं। जिससे कि आपकी साइट अधिक secure हो जाती है। यह free भी मिलता है या आप इसे खरीद सकते हैं.

    5. Mobile Friendliness को बढ़ाएं

    Mobile Friendliness होना आपके ब्लॉग को रैंक कराने के लिए सबसे जरूरी है। इसका कारण यह है कि आज के वक्त में ज्यादातर लोगों के पास मोबाइल है और ज्यादातर searches mobile से ही होती हैं.

    Google desktop friendliness से ज्यादा mobile friendliness पर ध्यान देता है.

    Mobile में content show करने के लिए कम जगह होती है इसलिए mobile view में कोई गड़बड़ी न हो इसके लिए आप अपनी site को मोबाइल में open करें और खुद analys करें.

    आप इसके लिए Google Search Console के Mobile-Friendly Test का सहारा ले सकते हैं.  

    इससे आपको पता चल जायेगा कि आपकी site Mobile Friendliness है या नहीं.

    6. Sitemap Optimize करें

    SEO करने का एक जरूरी काम है कि XML Sitemap Optimization.

    यह एक XML File होती है जो कि आपकी website के pages की एक list होती है। अन्य तरह का भी होता है.

    Blogger Blogका Sitemap कैसे बनाये ?

    अगर आपकी site WordPress पर है तो आप Yoast SEO Plugin या rankmath की मदद से यह काम कर सकते हैं। आप manual भी यह काम कर सकते हैं.


    निष्कर्ष - SEO कैसे करें 

    आज के article में मैंने आपको आज SEO क्या है कैसे करे के बारे में जानकारी दी है SEO in hindi आपको यह article कैसा लगा? हमे comment करके जरुर बताये, अगर आप को यह article अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर share करे.

    धन्यवाद !!



     

    Post a Comment

    0 Comments